• A
  • A
  • A
JNU का नया विवाद: कर्मचारियों को समय पर नहीं मिल रहा है वेतन!

नई दिल्ली: जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में मैक्स मेंटेनेंस कंपनी को साफ-सफाई का टेंडर दिया गया है, लेकिन कंपनी यूनिवर्सिटी में काम करने वाले कर्मचारियों को उनका वेतन नहीं दे रही है.

जेएनयू


सामान्य तौर पर इनका वेतन 7 तारीख तक आ जाता था लेकिन इस बार 12 तारीख बीत जाने के बाद भी सफाई कर्मियों को उनका वेतन नहीं मिल पाया है. कर्मचारियों के वेतन पर कंपनी का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन पिछले 4 महीने से उनकी बकाया रकम नहीं दे रहा है जिसके चलते सैलरी रोकी गई है.
नहीं मिले पैसे तो करेंगे अदालत का रुख
इस मामले पर छात्र संघ ने सफाई कर्मियों को उनका वेतन न दिए जाने पर सवाल खड़े किए हैं. छात्र संघ अध्यक्ष एन साईं बालाजी का कहना है कि अगर प्रशासन ने कंपनी को उसके हिस्से की राशि नहीं दी है तो कंपनी अदालत का रुख अपनाए लेकिन सफाई कर्मचारियों का वेतन रोक लेना कंपनी और कर्मचारियों के बीच के कॉन्ट्रैक्ट के खिलाफ है. बालाजी का कहना है कि प्रशासन का साफ-सफाई के लिए कंपनी को दोष देना और कंपनी का वेतन के लिए प्रशासन को कसूरवार बताना बहुत आम हो गया है. जिसके चलते सफाई कर्मियों के वेतन पर असर पड़ता है.


ये भी पढ़ें : मेट्रो, किराया और बवाल! वैशाली मेट्रो स्टेशन के बाहर छात्रों का फूटा गुस्सा, देखें वीडियो

छात्र संघ अध्यक्ष बालाजी का कहना है कि अगर वाकई प्रशासन ने कंपनी को पैसे नहीं दिए हैं तो यह साफ दिखाता है कि वीसी कितने नाकाम और यूनिवर्सिटी के कर्मचारियों के कितने खिलाफ हैं. अगर वे कर्मचारियों को वेतन नहीं दिलवा पा रहे हैं तो यूनिवर्सिटी में उनके रहने का कोई मतलब नहीं है.

वाइस चांसलर पर भी लगे आरोप
बालाजी ने कहा कि छात्र संघ कर्मचारियों के साथ है. वीसी जगदीश कुमार पर तंज कसते हुए बालाजी ने कहा कि वाइस चांसलर खुद तो एसी बंद कमरे में रहकर लाखों का वेतन पा रहे हैं और सफाई कर्मियों को मेहनत की कमाई देने से मना कर रहे हैं. छात्र संघ की मांग है कि कर्मचारियों को उनका वेतन फौरन दिया जाए.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES