• A
  • A
  • A
सुपारी लेने वाले को पहले मारी ताबड़तोड़ गोलियां फिर एसिड से जलाया, हत्यारों ने किया खुलासा

नई दिल्ली: यूपी सहित पूरे एनसीआर में दहशत फैलाने वाले बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. गिरफ्त में आते ही हत्यारों ने कई बड़े खुलासे किए हैं. बागपत के बदमाश दीपक तोमर की हत्या के लिए दीपक पंडित ने पांच लाख की सुपारी ले ली. दीपक तोमर को इसकी भनक लगी यो उसने अपने साथियों के साथ मिलकर बेरहमी से दीपक पंडित को मौत के घाट उतार दिया.

पुलिस की गिरफ्त में आये आरोपी.


अलीपुर पुलिस के अनुसार बीते 30 दिसंबर को अलीपुर इलाके में सिंघु नाले से एक युवक का शव मिला था. ताबड़तोड़ गोलियां मारकर उसकी हत्या की गई थी. इसके अलावा उसकी पहचान छिपाने के लिए चेहरे को तेजाब से भी जलाया गया था. जांच के दौरान उसकी पहचान यूपी के बड़ौत निवासी दीपक पंडित के रूप में की गई. इस बाबत अलीपुर थाने में हत्या प्रयास हत्या और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया.
पढ़ें- खास बातचीत में बोले श्रीकांत शर्मा- रक्षा दलालों का भोंपू बजा रही है कांग्रेस
नजफगढ़ नाले के पास से गिरफ्तार हुए दो आरोपी
हाल ही में हवलदार सूरज और अमित को सूचना मिली कि इस वारदात में शामिल बदमाश नजफगढ़ नाले के पास आएंगे. इस जानकारी पर डीसीपी भीष्म सिंह की देखरेख में एसीपी आदित्य गौतम और इंस्पेक्टर खंडूरी की टीम ने प्रदीप और सुमित को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह हरियाणा के रहने वाले हैं. प्रदीप के मामा के गांव में सुमित रहता है. इसलिए दोनों के बीच अच्छी दोस्ती थी.

दीपक तोमर को ऐसे बनाया साजिश का हिस्साकुछ वर्ष पहले प्रदीप की मुलाकात बागपत के दीपक तोमर के साथ हुई. वह उसके गिरोह में जुड़ गया. सुमित की अपने ही गांव के सुमन से दुश्मनी थी. वह उसे मारना चाहता था. उसने इसमें प्रदीप से मदद मांगी. प्रदीप ने दीपक तोमर से हथियार मांगा. दीपक तोमर ने उन्हें कहा कि वह इस हत्या में उनकी मदद करेगा लेकिन इसके लिए पहले उन्हें उसके दुश्मन दीपक पंडित को मारना होगा. उसने बताया कि दीपक पंडित ने पांच लाख रुपये में उसकी सुपारी ली है.
पढ़ें- CBSE एग्जाम: कंप्यूटर साइंस की परीक्षा में सी++ और पाइथन में होगा विकल्प

ऐसे दिया हत्या को अंजाम
साजिश के तहत 22 दिसंबर को दीपक तोमर, प्रदीप और सुमित अपने अन्य साथियों सहित सिंघु गांव आये और वहां शराब पी. उन्होंने वहां पर दीपक पंडित को भी बुलाया. देर रात वह उसे अपने साथ खेतों में ले गए और वहां गोली मारकर उसकी हत्या कर दी. उसकी पहचान छिपाने के लिए आरोपियों ने उसके चेहरे एवं शरीर पर आरोपियों ने तेजाब डाल दिया. इसके बाद शव को नाले में फेंक दिया. यही शव 30 दिसंबर को पुलिस को नाले में मिला था. फरारी के दौरान वह सुमन की हत्या के लिए मौका तलाश रहे थे.



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES