• A
  • A
  • A
सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों की ऐतिहासिक प्रेस कांफ्रेंस, चीफ जस्टिस से भ्रष्टाचार पर गहरे मतभेद

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चार प्रमुख जजों ने सुप्रीम कोर्ट में कथित भ्रष्टाचार पर CJI दीपक मिश्रा से गहरे मतभेद की बात कही।

सर्वोच्च न्यायालय।


जस्टिस चेलमेश्वर के घर पर हुई इस प्रेस कांफ्रेंस में जस्टिस चेलमेश्वर ने कहा कि उनके लिए परिस्थितियां सहन करने के बाहर हो गईं थीं।



उन्होंने कहा कि अब उनके सामने देश के सामने आकर अपनी बात कहने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा था। वे नहीं चाहते कि 20 साल बाद उनके ऊपर किसी प्रकार का आरोप लगे। उन्होंने कहा कि अगर अब भी वे चुप रहते हैं तो ऐसा लगेगा कि उन्होंने अपनी आत्मा बेच दी है।


प्रेस कांफ्रेंस में भ्रष्टाचार पर मुख्य न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा से मतभेद होने की बात कही गई।


प्रेस कांफ्रेंस के बाद चारों जजों की तरफ से एक वक्तव्य भी जारी किया गया।

प्रेस कांफ्रेंस में जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा कि हमें देश ने यहां भेजा है जिसके लिए हम कृतज्ञ है। जस्टिस मदन बी लोकुर ने कहा कि हम प्रेस कांफ्रेंस कर रैंक नहीं तोड़ रहे हैं। हम अपने लिए बोल रहे हैं। हमने चर्चा की और हम चार चीफ जस्टिस के पास गए। इस पर हमने किसी दूसरे से चर्चा नहीं की। जस्टिस गोगोई ने कहा कि हमने देश के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाई है, विरोध नहीं कर रहे हैं।




CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES