• A
  • A
  • A
बेटे की मौत ने रूलाया तो किसान परिवार ने दी देश छोड़ 'पाकिस्तान' जाने की धमकी

चरखी दादरी: बीते साल गांव मकड़ानी के किसान के बेटे की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी. जिसके बाद वो आज तक इंसाफ के लिए कानून का दरवाजा खटखटा रहा है. लेकिन आज तक उसकी कहीं भी कोई सुनावाई नहीं हुई.

क्लिक कर देखें वीडियो.

बता दें कि बीते साल 9 मार्च को चरखी दादरी के मकड़ानी गांव के गरीब किसान के बेटे की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी. जिसके बाद गरीब किसान परिवार ने बेटे की मौत का मामला पुलिस में दर्ज कराया था. किसान परिवार ने आरोप लगाए थे कि किसी ने उसके बेटे की हत्या कर पेड़ से लटका दिया है. वहीं पुलिस ने मामले को आत्महत्या से जोड़कर फाइल बंद कर दी थी.

लेकिन इसके वाबजूद भी किसान परिवार बार-बार प्रशासन के चक्कर काट रहा है पर कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई. इतना ही नहीं गरीब किसान सीएम विंडों तक पर इंसाफ की गुहार लगा चुका है पर कहीं कोई सुनावाई नहीं हुई.

जब इसके बाद भी काबू नहीं चला तो किसान परिवार ने एक सप्ताह के लिए जंतर-मंतर पर धरना दिया लेकिन फिर भी इस परिवार के आसू पहुंचने के लिए किसी कि आंखें नम नहीं हुई.

अब यहां ये सवाल लाजमी हैं कि जब हरियाणा की खट्टर सरकार इंसाफ के लिए सीएम विंडों लगाती है तो फिर इस गरीब किसान को आज तक इंसाफ क्यों नहीं मिला? हद तो तब हो गई जब हमारे संवाददाता ने इनसे इनकी आपबीति सुनी. जिसके बाद इस गरीब किसान परिवार ने कहा कि जब हमें देश में रहकर न्याय नहीं मिल रहा है तो अब या तो हम परिवार समेत आत्मदहा कर लें या फिर धर्म परिवर्तन कर देश छोड़कर पाकिस्तान चले जाएं.

ये गरीब परिवार पहले से ही आर्थिक रूप से कर्ज में दबा हुआ है फिर बेटे की मौत ने इस परिवार को तोड़ कर रख दिया है. आखिर इस परिवार को कब इंसाफ मिलेगा! न्याय की आस में अबतो परिवार की आंखों के आंसू भी सूख चुके हैं.



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES