• A
  • A
  • A
फिर जाट और सरकार आमने-सामने, सरकार पर लगाए वायदा खिलाफी के आरोप

भिवानी: प्रदेश में जाट बिरादरी पिछले लंबे समय से आरक्षण को लेकर सरकार को घेर रही है. लेकिन पिछले कुछ दिनों से ये मुद्दा बंद हो गया था. वहीं आज फिर भिवानी जाट धर्मशाला में आरक्षण संघर्ष समिति की बैठक में इस मुद्दे को फिर से उठाने का बिगूल फूंका.

मिटिंग करते जाट समुदाय के लोग.

जाट बिरदारी के नेताओं ने सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि वो एक बार फिर से अपने आरक्षण की मांग को बुलंद करेंगे. जाट नेताओं ने सरकार पर उनकी मांगों को लेकर चार बार वायदा खिलाफी के आरोप लगाए हैं. जाट बिरदारी के नेताओं ने कहा कि अगर इस बार ऐसा हुआ तो वो अपने समाज के लोगों को जागरूक कर बीजेपी सरकार को राजस्थान की तर्ज पर वोट की चोट मारने का काम करेंगे.
बता दें कि जाट धर्मशाला में शनिवार को यशपाल मलिक गुट के जाट आरक्षण संघर्ष समिति के प्रदेश सचिव गंगाराम श्योराण की अध्यक्षता में जिला पदाधिकारियों की बैठक हुई. बैठक में 8 से 10 फरवरी को रोहतक जिला के जसिया गांव में होने वाले राष्ट्रीय अधिवेशन को लेकर चर्चा की गई. साथ ही उससे पहले जिला भर के गांवों में भाईचारा संदेश यात्रा के निकालने पर भी सहमती बनी है.
आरक्षण की मांग को लेकर इस साल आंदोलन प्रदेश की राजनीति के लिए बहुत मायने रखता है. खासकर जींद विधानसभा के उपचुनावों के दौरान आंदोलन की आहट की शुरूआत अपने आप में कई मायने निकालने पर मजबूर करती है.



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  ASSEMBLY ELECTIONS 2018

  MAJOR CITIES