• A
  • A
  • A
शांत होने का नाम नहीं ले रहा फैक्ट्री ब्लास्ट मामला, नगर पार्षदों ने की ये मांग

कोटद्वार: जशोधरपुर सिडकुल के पीएल स्टील प्राइवेट लिमिटेड में हुए ब्लास्ट का मामला शांत होने का नाम नहीं ले रहा. इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग को लेकर भाबर क्षेत्र के पार्षदों ने उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा है. वहीं नगर पार्षदों ने जांच की मांग के साथ ही फैक्ट्री प्रबंध और सहायक श्रम अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की भी मांग की है.

पार्षदों ने उपजिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन.


मामला बीते 8 जनवरी का है जब जशोधरपुर सिडकुल की पीएल स्टील में देर शाम को ब्लास्ट हुआ था. जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी और 2 घायल हो गए थे. लेकिन 4 दिन बीत जाने के बाद भी दोषियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई.
पढ़े: चमोली SP का चार्ज संभालने के बाद IPS मंजूनाथ का ट्रांसफर निरस्त
नगर पार्षदों ने बताया कि फैक्ट्री में कार्यरत मजदूरों की सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है और मजदूरों का कोई बीमा भी नहीं किया गया है. उन्होंने बताया कि फैक्ट्री में कार्यरत मजदूरों से 8 घंटे के बजाय 12 घंटे काम करवाया जाता है. पार्षदों ने फैक्ट्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि फैक्ट्री में किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर मजदूरों को पर्याप्त मुआवजा भी नहीं दिया जाता.
पढ़े: नगर पालिका ने PWD को थमाया नोटिस, कहा- तुरंत साफ करो नालियां
वहीं इस मामले पर उपजिलाधिकारी कमलेश मेहता ने बताया कि जशोधरपुर इंडस्ट्रीयल एरिया की पीएल स्टील में ब्लास्ट हुआ था. जिसकी जांच के आदेश दे दिए गए हैं. उन्होंने बताया कि लेबर कमिश्नर से एक रिपोर्ट मांगी है, जिसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी.



CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES