• A
  • A
  • A
मोस्टामानू क्षेत्र जल्द बनेगा इको पर्यटन स्थल, वैश्विक स्तर पर मिलेगी पहचान

पिथौरागढ़: जिले के मोस्टामानू क्षेत्र को इको पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की तैयारियां जोरों पर हैं. वन विभाग और जिला प्रशासन ने मोस्टमानू क्षेत्र को पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित करने के लिए 50 लाख की लागत से प्रस्ताव तैयार किया है. इसके लिए पर्यटन विभाग जल्द ही धनराशि जारी करेगा.

इको पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की तैयारियां.


राज्य के सभी 13 जनपदों में 13 स्थल इको पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित किए जाने हैं, जिसके लिए जिले से मोस्टामानू क्षेत्र को चुना गया है. पर्यटन विभाग का दावा है कि इको पर्यटन स्थल बनने के बाद मोस्टामानू क्षेत्र को वैश्विक पटल पर एक अलग पहचान मिलेगी.
पढ़ें: स्टील प्लांट विस्फोट मामला: फैक्ट्री मालिक के खिलाफ गैर-इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज
पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि शासन के निर्देश पर सभी 13 जनपदों में 13 डेस्टिनेशन इको पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित किए जाने हैं. इसमें जिले से मोस्टामानू क्षेत्र को पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित करने की योजना है. साथ ही मोस्टामानू क्षेत्र को बृहद स्वरूप देने में लगभग 50 लाख रुपए का खर्च आना है, जो धनराशि जल्द ही जारी कर दी जाएगी.

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES