• A
  • A
  • A
पतंगबाजी आपके लिए है हेल्दी, जानिए कैसे

जयपुर। मकर संक्रांति पर पूरे देश में पतंगबाजी की जाती है। पतंगबाजी का बच्चों के साथ ही युवाओं में भी खासा क्रेज रहता है। पतंगबाजी का स्वास्थ्य से भी सीधा नाता है। आइए जानते है कि पतंगबाजी किस तरह आप के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है।

कांसेप्ट इंमेज।


सूर्य से संबंधित यह पर्व जो अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग रीति-रिवाजों के साथ मनाया जाता है। इस दिन का धार्मिक महत्व है। मकर संक्रांति पर्व स्वास्थ्य की दृष्टि से विशेष स्थान रखता है। सूर्य को संसार में रहने वाले सभी जीवों और पदार्थो की आत्मा कहा गया है। धरती को प्रकाश और गरमाहट देकर वह यहां जीवन को संभव बनाता है। सूर्य के बिना धरती पर पेड़-पौधों, फसलों की कल्पना भी नहीं की जा सकती। सूर्य के प्रकाश का संबंध हमारी सेहत और मुस्कुराहट से भी है।

पढ़ेंः मकर संक्रांति के शुभ योग में जरूर करें ये काम



संक्रांति पर सूरज का सेहत से नाता
भारत में खासतौर पर सर्दियों में धूप सेंकने की परंपरा रही है, जिसे रोज की आपाधापी में लोग भुलाते जा रहे हैं। रोजाना सिर्फ 15 मिनट धूप में बैठते हैं, तो विटामिन डी की पर्याप्त मात्र में पूर्ति होती रहती है।
मकर संक्रांति से ठंड का असर कम होना शुरू हो जाता है। इस दिन सूर्य की किरणें हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद रहती हैं। त्वचा की चमक बढ़ाने के साथ ही सूर्य की किरणों से शरीर को ऊर्जा मिलती है। सूर्य की किरणों के चमत्कारी असर को देखते हुए ही इस दिन पतंग उड़ाने की प्राचीन परंपरा चली आ रही है।
सूर्य को संसार में रहने वाले सभी जीवों और पदार्थो की आत्मा कहा गया है। धरती को प्रकाश और गरमाहट देकर वह यहां जीवन को संभव बनाता है।

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES