• A
  • A
  • A
राजस्थानी संस्कृति की शान ऊंट उत्सव

बीकानेर/जयपुर। बीकानेर में 25वें अंतर्राष्ट्रीय ऊंट उत्सव का आगाज 13 जनवरी से हो गया। हर साल दो दिवसीय कैमल फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। ऊंट उत्सव की शान सजीले ऊंट होते हैं, तो राजस्थान की संस्कृति इसकी आन होती है। इस उत्सव के दौरान होने वाले कार्यक्रमों को देखने के लिए देश-विदेश से सैलानी उमड़ते हैं।

कांसेप्ट इमेज।


आज यानी 14 जनवरी को करणी सिंह स्टेडियम में कई कार्यक्रम होगें। जिनमें रस्साकसी, ग्रामीण कुश्ती, कबड्डी, साफा बांधने, ऊंटनी दुहने, महिला मटका दौड़ सहित कई प्रतियोगिताएं होगी। जिसमें पुरूस्कार वितरण के साथ जसनाथी सम्प्रदाय का प्रसिद्ध अग्नि नृत्य और आतिशबाजी का भी आयोजन होगा।


हेरिटेज वॉक होगी आकर्षण का केन्द्र
उत्सव में आज यानी रविवार को मुख्य आकर्षण हेरिटेच वॉक रही। सुबह 10 बजे रामपुरिया हवेली से बीकाजी की टेकरी तक शोभायात्रा निकाली गई। साथ ही महिला-पुरूषों की रस्साकसी, ग्रामीण कुश्ती, प्रतियोगिताएं, कबड्डी मैच, साफा बांध प्रतियोगिता सहित कई आयोजन होंगे। वहीं रात 8 बजे अग्नि नृत्य और आतिशबाजी भी विशेष आकर्षण का केन्द्र होगी।

कैमल फेस्ट‍िवल के पहले दिन क्या रहा खास
वहीं इससे पहले 13 जनवरी को उत्सव में सबसे पहले जूनागढ़ किले से शोभायात्रा निकाली गई। जो करणी सिंह स्टेडियम पहुंची। जिसके बाद ऊंट उत्सव का उद्घाटन हुआ। साथ ही ऊंट श्रृंगार, ऊंट नृत्य सहित पूरे दिन कार्यक्रमों की भरमार रही।

पढ़ें: आज भी कोई नहीं भुला सकता बिग बॉस सीजन-5 को वो कालबेलिया डांस

क्‍या है अंतर्राष्ट्रीय ऊंट उत्सव ?
जैसलमेर के बाद बीकानेर के धोरों पर ऊंट की सवारी और ऊंटों और लोक कलाकारों के प्रदर्शन राजस्थान के पर्यटन में खास स्थान रखते हैं। ऊंटों का बीकानेर से बहुत पुराना रिश्‍ता है। कहते हैं कि बीकानेर शहर की खोज करने वाले राव बीका जी ने बीकानेर में ऊंटों की प्रजाति का पालन पोषण करना शुरू किया था। यहां के ऊंटों को बाकायदा सेना के लिए भी प्रशिक्षित किया जाता है। इस तरह के ऊंटों को 'गंगा रिसला' कहा जाता है और आज भी भारतीय थल सेना में एक ऐसी टुकड़ी है, जो ऊंट के साथ बॉर्डर की सुरक्षा का काम करती है। राज्य सरकार ने ऊंट को राज्य पशु का दर्जा देकर इसकी गरिमा और उपयोगिता को अधिक बढ़ा दिया है।


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  सहेली

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES