• A
  • A
  • A
राजस्थान में स्वाइन फ्लू बेलगाम...11 दिन में 23 लोगों की ली जान, 603 पॉजिटिव केस

जयपुर: राजस्थान में स्वाइन फ्लू बेलगाम होता जा रहा है. शुक्रवार को प्रदेश में स्वाइन फ्लू के 96 नए मामले सामने आए हैं. साथ ही इस बीमारी से अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है. राजस्थान में इस साल 603 स्वाइन फ्लू के पॉजिटिव केस आ चुके हैं. वहीं सबसे ज्यादा पॉजिटिव जयपुर और जोधपुर में देखने को मिल रहे हैं.

डॉ. दिनेश शर्मा, सीएमएचओ सिरोही


जयपुर में जहां 28 मामले सामने आए हैं वही जोधपुर में 39 नए केस स्वाइन फ्लू के आए हैं. अब इसको देखते हुए चिकित्सा विभाग ने एक जागरूकता कार्यक्रम भी शुरू किया है. जिसके तहत प्रदेशभर में शुक्रवार से विशेष अभियान चलाकर लोगों को स्वाइन फ्लू के बारे में जागृत किया जा रहा है.

वहीं मामले को लेकर चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने भी क्रॉस चेकिंग के निर्देश जारी किए थे. जिसके तहत जिन इलाकों में स्वाइन फ्लू पॉजिटिव मरीज सामने आ रहे हैं, उसके आसपास के 50 घरों में क्रॉस चेकिंग कार्यक्रम चलाया जा रहा है. क्रॉस चेकिंग की एक रिपोर्ट तैयार की जाएगी और हर दिन चिकित्सा मंत्री इस रिपोर्ट की जानकारी चिकित्सा अधिकारियों के माध्यम से लेंगे.
पढ़ें:- लोकसभा चुनाव में राजस्थान से भाजपा का सूपड़ा साफ कर देंगेः मंत्री बीडी कल्ला
आबूरोड में 3 मरीज मिलने का बाद चिकित्सा विभाग हरकत में

सिरोही जिले में आबूरोड में तीन मरीजो में स्वाइन फ्लू पॉजीटिव पाए जाने के बाद चिकित्सा हरकत में आ गया है. विभाग द्वारा मरीजों के घरों के आसपास सर्वे करवाया गया है और उनके स्वास्थ्य की जांच की गई है. जिले के राजकीय अस्पतालों में आने वाले हर मरीज की गहन जांच की जा रही है. सिरोही और आबूरोड में 6-6 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं. जिले के दोनों बड़े अस्पताल में इलाज के पर्याप्त बंदोबस्त हैं लेकिन परेशानी यह है कि स्वाइन फ्लू की जांच के लिए सैम्पल उदयपुर भेजे जाते हैं. जिसकी रिर्पोट 24 से 48 घंटे में आती है और इलाज देरी से शुरू हो पाता है.
पिछले तीन सालों से लगातार स्वाइन फ्लू के मरीज सामने आने के बावजूद सिरोही जिला मुख्यालय पर स्वाइन फ्लू मरीजों के सैम्पल की जांच नहीं हो पाती है जिसके चलते स्थानीय लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड रहा है.
पढ़ें:- राजस्थान में 10 हजार पेट्रोल पंप आवंटन प्रक्रिया पर HC ने लगाई रोक, केंद्र और प्रदेश सरकार तलब
नागौर में स्वाइन फ्लू को लेकर प्रदेश स्तरीय वीडियो कांफ्रेंसिंग

प्रदेश में स्वाइन फ्लू के बढ़ते खतरे को लेकर चिकित्सा विभाग अलर्ट मॉड पर है. स्वाइन फ्लू से हुई मौतों के आंकड़े के बाद एनआरएचएम निदेशक डॉ. समित शर्मा ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारीयों से बातचीत की और स्वाइन फ्लू को लेकर अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए.
डॉ. शर्मा ने चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि स्वाइन फ्लू से सम्बंधित रोगी पहले भी देरी से अस्पताल पंहुचता है. मगर अस्पताल पंहुचने पर तुरंत इलाज दिया जाए और आपातकालीन स्थिति में मरीज को उच्च संस्थान में रेफर किया जाए. ताकि मरीज को सही समय पर इलाज मिल सके.


CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES