• A
  • A
  • A
गहलोत सरकार @ 30 days : 3500 रूपए बेरोजगारी भत्ते का दूर-दूर तक कोई अता-पता नहीं

जयपुर. प्रदेश में गहलोत सरकार के 30 दिन पूरे हो चुके हैं. सत्ता में आते ही गहलोत सरकार ने दो दिनों में ही किसानों की कर्जमाफी की घोषणा कर दी. उसमें भी शर्तें आ गईं. लेकिन बेरोजगारी भत्ते को सरकार भूल सी गई है.

डिजाइन फोटो.




बता दें कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव से पहले अपने घोषणा पत्र में कई बड़े- बड़े वादे किए थे. चनुाव प्रचार की रैलियों में राहुल ने युवाओं को राजगार के वादे किये थे. जिसमें एक वादा बेरोजगारी भत्ते का भी था. लेकिन मौजूदा सरकार सिर्फ कर्ज माफी पर और अधिकारिओं के तबादलों पर ही अटकी हुई है. जिससे ये सवाल उठता है कि बेरोजगारों का क्या.. उनके साथ किये गए वादों का क्या..
पढ़ें : राजस्थान से पाकिस्तानी महिला को खुफिया जानकारी लीक करने वाला सेना का जवान गिरफ्तार

गौरतलब है कि चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार ने अपने घोषणा पत्र में 3500 रूपए बेरोजगारी भत्ते का वादा किया था. लेकिन सरकार अभी तक अपनी नौकरशाही ही तय नहीं कर पाई है. जिससे ऐसा लग रहा है कि गहलोत सरकार ने बेरोजगारी भत्ते के अपने फैसले को दरकिनार कर दिया है.

पढ़ें : शनिवार को करें ये काम, खुश होकर शनिदेव देंगे वरदान
अब देखने वाली बात ये होगी कि सरकार ने अगर अपने इस वादे को पूरा नहीं किया, तो क्या इसका परिणाम कांग्रेस को आगामी लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा?

CLOSE COMMENT

ADD COMMENT

To read stories offline: Download Eenaduindia app.

SECTIONS:

  होम

  राज्य

  देश

  दुनिया

  कारोबार

  क्राइम

  खेल

  मनोरंजन

  इंद्रधनुष

  गैलरी

  टूरिज़्म

  MAJOR CITIES